Home

Sadhguru Jaggi Vasudev

ध्यानलिंग प्राण-प्रतिष्ठा : तीन लोगों की ऊर्जा के भंवर से हुई थी प्रतिष्ठा

ध्यानलिंग की प्राण-प्रतिष्ठा के लिए ऊंची ऊर्जाओं को आमंत्रित किया गया था, और सद्‌गुरु समेत तीन लोगों ने मिलकर एक ...
Read More

अनजाने में गलती हो जाए तो क्‍या करें?

एक साधक सद्‌गुरु से प्रश्न पूछ रहे हैं कि उनकी पत्नी से अनजाने में एक गलती हो गई है, जिससे ...
Read More

क्रोध को भगाने के उपाय

सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि हर व्यक्ति जो क्रोध करता है, वो अपने क्रोध को उचित ही ठहराता है। ...
Read More

महालया अमावस्या या पितृपक्ष – क्या है इनका महत्व?

सद्‌गुरु बता रहे हैं कि महालया अमावस्या या पितृ पक्ष का क्या महत्व है, और अपने पूर्वजों को सम्मान देने ...
Read More

भूत प्रेत, बुरी आत्मा के डर से कैसे पाएं छुटकारा?

एक युवा छात्र सद्‌गुरु से पूछता है कि भूतों और अलौकिक तत्वों के डर पर काबू कैसे पाएं। सद्‌गुरु का ...
Read More

बुद्धि के पांच आयाम – जुड़ें हैं आकार, ध्वनि, सुगंध, स्वाद और स्पर्श से

मन के तार्किक आयाम को बुद्धि कहा जाता है। सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि मन का ये आयाम सिर्फ ...
Read More

Osho Hindi

ध्यान मन की मृत्यु है

ध्यान मन की मृत्यु है मन का एक ही भय हैः वह ध्यान है। ध्यान मन की मृत्यु है। ध्यान ...
Read More

एक मित्र ने पूछा है कि ध्यान से स्वास्थ्य का क्या संबंध है?

एक मित्र ने पूछा है कि ध्यान से स्वास्थ्य का क्या संबंध है? बहुत संबंध है। क्योंकि बीमारी का बहुत ...
Read More

एकांत, मौन और ध्यान—समाधि के उपाय हैं। ये तीन चरण हैं! ओशो:

एकांत, मौन और ध्यान—समाधि के उपाय हैं। ये तीन चरण हैं! ओशो: अपने को अकेला जानो। अकेले आए हो, अकेले ...
Read More

सचेतनता एक संक्रामक रोग की तरह है

सचेतनता एक संक्रामक रोग की तरह है एक शिक्षक, जो स्वयं अपने प्रति ही सजग नहीं है, एक शिक्षक नहीं ...
Read More

कभी किसी ने ओशो (रजनीश जी) को एसी महामारी के बारे मे प्रश्न किया था

कभी किसी ने ओशो (रजनीश जी) को एसी महामारी के बारे मे प्रश्न किया थाउसका उत्तर पढ़े,,, महामारी से कैसे ...
Read More

सब कुछ दांव पर लगा दने का क्या अर्थ है?

सब कुछ दांव पर लगा दने का क्या अर्थ है? लोग चालबाजियां कर रहे हैं। लोग परमात्मा के साथ भी ...
Read More

Brahma Kumaris

Chanakya Neeti

इनसे दूर रहने में ही समझदारी है।

आचार्य चाणक्य ने एक नीति में 3 ऐसे लोग बताए हैं, जिनका भला करने पर भी हमें दुख ही मिलता ...
Read More

मानव में समाज के लिए उपयोगी बनने का भाव होना चाहिए या नहीं ?

आचार्य चाणक्य कहते हैं- 'शांति के समान कोई तप नहीं, संतोष से बढ़कर कोई धर्म नहीं। सुख के लिए विश्व ...
Read More

सफल होना है तो ऐसे मित्र को तुरंत छोड़ दे

नमस्कार दोस्तों आप आचार्य चाणक्य जी को कोण नहीं जानता, उनके जैसा महँ ज्ञानी और अर्थ कुशल व्यक्ति आज इस ...
Read More

कब पीएं पानी

चाणक्य कहते हैं कि जब खाना पूरी तरह पच जाए तो उसके बाद पानी पीना चाहिए। खाना पचने के बाद ...
Read More

अच्छाई सभी दिशाओं में फैलती है।

चाणक्य की कही हर बात अमूल्य है। यदि हम इन पर विचार करें और अमल में लाने का प्रयास करें ...
Read More

दुष्ट से कैसे बचे?

चाणक्य ने चाणक्य नीति द्वारा कुछ ऐसी बातें भी बताई हैं, जो व्यवहारिक ज्ञान के समान है। इन्हें हम आसपास ...
Read More

God Shiva

कभी चीन में भी होती थी भगवान शिव की पूजा!

‘हिन्दी-चीनी भाई-भाई’ जैसे राजनीतिक कथन तो आपने सुने ही होंगे, लेकिन इन सबके अलावा चीन और भारत के बीच धार्मिक ...
Read More

शिवजी विवाहित हैं, फिर भी श्मशान में निवास करते हैं

अभी शिवजी का प्रिय माह सावन चल रहा है। ये महीना 15 अगस्त तक चलेगा। इस दिन सावन माह की ...
Read More

शिवजी का प्रतीक है रुद्राक्ष, खराब या टूटा-फूटा रुद्राक्ष नहीं पहनना चाहिए

शिवजी सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले देवता हैं। मान्यता है कि अगर कोई भक्त रोज एक लोटा जल शिवलिंग पर ...
Read More

भगवान शिव के रहस्यमयी स्वरूप से सीख सकते हैं कैसा होना चाहिए जीवन

भगवान शिव जितने रहस्यमयी हैं उनकी वेश-भूषा व उनसे जुड़े तथ्य भी उतने ही विचित्र हैं। शिव श्मशान में निवास ...
Read More

सावन में सात्विकता अपनाएंगे तो जीवन में कई परिवर्तन दिखाई देंगे

हम साल के उस मोड़ पर खड़े हैं जहां से मानव को एक नया उत्साह मिलता है। जीवन में नई-नई ...
Read More

शिवजी और अर्जुन के बीच हुआ था युद्ध, प्रसन्न होकर शिवजी ने दिया था दिव्यास्त्र

महाभारत में जब कौरव और पांडवों के बीच युद्ध तय हो गया तो अर्जुन देवराज इंद्र से दिव्यास्त्र पाना चाहते ...
Read More

Krishna Gyan

राधे और कृष्ण : क्यों नहीं बंधे विवाह बंधन में?

जब कृष्ण के प्रति राधा का प्रेम समाज को चुभने लगा तो घर से उनके निकलने पर रोक लगा दी ...
Read More

क्या आप जानते हैं आखिर क्यों भगवान श्री कृष्ण अर्जुन के सारथी बने थे?

पीतांबरधारी चक्रधर भगवान कृष्ण महाभारत युद्ध में सारथी की भूमिका में थे। उन्होंने अपनी यह भूमिका स्वयं चयन की थी। ...
Read More

जब वह वास्तव में काला है तो कृष्णा का रंग नीला क्यों दर्शाया गया है ?

भगवान श्रीकृष्ण का रंग काला नही बल्कि जल से भरे बादलों के समान श्याम है, इसीलिए वे ‘घनश्याम’ कहलाते हैं ...
Read More

भगवान कृष्ण से हम मैनेजमेंट की क्या सीख ले सकते हैं?

श्रीकृष्ण की सिखाई गई बातें युवाओं के लिए इस युग में भी उतनी ही महत्वपूर्ण हैं, जितनी अर्जुन के लिए ...
Read More

भगवान् कृष्ण क्यों रन छोर कर भागे? क्या यह एक शत्रिय के लिये निंदनिये नहीं है?

कृष्ण ने अपना पांच्यजन्य शंख बजाया। उनके शंख की भयंकर ध्वनि सुनकर शत्रुपक्ष की सेना के वीरों के हृदय डर ...
Read More

कृष्ण ने द्रौपदी के चीर हरण को क्यों नहीं रोका, इससे पहले कि यह प्रयास भी क्या जा सकता था? बाद में हस्तक्षेप करने का तर्क क्या था?

भगवान हर किसी को कर्मा करने की स्वतंत्रता देते है पर अगर कोई सच्चे मन से उन्हें बुलाए तो ज़रूर ...
Read More

Sri Sri RaviShankar Hindi

कृष्ण भगवान की कहानी | About Lord Krishna in Hindi

जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को मनाया जाता है। अष्टमी तिथि का महत्व इसलिये है क्योंकि वह वास्तविकता ...
Read More

श्रीमद्‍ भगवद्‍गीता : सहजता | Bhagvad Gita

गुरुदेव, श्रीमद्‍ भगवद्‍गीता में भगवान कृष्ण ने कहा है कि जो भी सहजता से हो, वही करते रहना चाहिए, भले ...
Read More

श्रीमद्‍ भगवद्‍गीता : सहजता | Bhagvad Gita

गुरुदेव, श्रीमद्‍ भगवद्‍गीता में भगवान कृष्ण ने कहा है कि जो भी सहजता से हो, वही करते रहना चाहिए, भले ...
Read More

गुरुदेव, क्या लोगों के ऊपर पत्थर फेंककर उनकी हत्या करना वैध है?

गुरुदेव, क्या लोगों के ऊपर पत्थर फेंककर उनकी हत्या करना वैध है? यदि कुछ लोग इस पर आपत्ति उठाते हैं ...
Read More

श्रीमद्‍ भगवत गीता और आतंकवाद | Bhagavad Gita and Terrorism in Hindi

आतंकवादी डरपोक होते हैं। जब भी विश्व के किसी भी भाग में आतंकवाद की कोई घटना होती है, तब हम ...
Read More

श्रीमद्‍ भगवत गीता और आतंकवाद | Bhagavad Gita and Terrorism in Hindi

आतंकवादी डरपोक होते हैं। जब भी विश्व के किसी भी भाग में आतंकवाद की कोई घटना होती है, तब हम ...
Read More

Buddha Mind

बौद्ध भिक्षुणी आम्रपाली

विश्व को अहिंसा का मंत्र बताने वाले भगवान बुद्ध को अपने मानवीय तत्व से आकर्षित और प्रभावित करने वाली वैशाली गणतंत्र की राजनर्तकी 'आम्रपाली' ...
Read More

बुद्ध ने पढ़ाया ज्ञान का पाठ

एक युवा ब्रह्मचारी देश-विदेश का भ्रमण कर और वहां के ग्रंथों का अध्ययन कर जब अपने देश लौटा, तो सबके ...
Read More

जानें बोधिधर्म को

भगवान बुद्ध के एक भारतीय भिक्षु का नाम है बोधिधर्म। बोधिधर्म के माध्यम से ही चीन, जापान और कोरिया में बौद्ध धर्म ...
Read More

बुद्ध ने समझाई दान की महिमा

भगवान बुद्ध का जब पाटलिपुत्र में शुभागमन हुआ, तो हर व्यक्ति अपनी-अपनी सांपत्तिक स्थिति के अनुसार उन्हें उपहार देने की ...
Read More

सुख की खोज में भटकी बौद्ध भिक्षुणी पटाचारा

बौद्ध संत पटाचारा वणिक-पुत्री थी। मनपसंद युवक से विवाह करने के कारण उसके माता-पिता रुष्ट हो गए और उन्होंने अपनी बेटी ...
Read More

बुद्धदेव और कर्मठ कृषक

गौतम बुद्ध एक बार अव्वाली ग्राम गए। वहां उनका उपदेश सुनने के लिए हजारों ग्रामीण उपस्थित हुए। ग्राम का एक दरिद्र किंतु कर्मठ कृषक भी ...
Read More