सुदर्शन क्रिया क्या है ? | Sudarshan Kriya in Hindi

सुदर्शन क्रिया एक रहस्य है !
“जन्म लेते ही हम जो पहला काम करते है वो है श्वास लेना । श्वास में जीवन के अनजाने रहस्य छिपे है।

सुदर्शन क्रिया एक सहज लयबद्ध शक्तिशाली तकनीक है जो विशिष्ट प्राकृतिक श्वांस की लयों के प्रयोग से शरीर, मन और भावनाओं को एक ताल में लाती है।

यह तकनीक तनाव, थकान और क्रोध, निराशा,अवसाद जैसे नकारात्मक भावों से मुक्त कर शांत व एकाग्र मन, ऊर्जित शरीरके साथ एक गहरा विश्राम प्रदान करती है।

सुदर्शन क्रिया जीवन को एक विशिष्ट गहराई प्रदान करती है, इसके रहस्यों को उजागर करती है। यह एक अध्यात्मिक खोज है, जो हमें अनंत की एक झलक देती है। सुदर्शन क्रिया स्वास्थ्य, प्रसन्नता, शांति और जीवन से परे के ज्ञान का अज्ञात रहस्य है!

प्रतिदिन उत्तम स्वास्थ्य की श्वास लें | Inhale Good Health, Everyday!
‘जीवनशक्ति ऊर्जा’, – प्राण का स्रोत श्वास है । प्राण शरीर व मन दोनों के स्वास्थ्य और सुख का आधार है। जब प्राण उच्च होता है, व्यक्ति स्वस्थ, ऊर्जित, व सजग अनुभव करता है। सुदर्शन क्रिया ९०% शरीर के विषाक्त पदार्थ और तनावों को दूर कर प्रतिदिन प्राण शक्ति को उच्च करती है।

सुदर्शन क्रिया के अभ्यासी उच्च श्रेणी की प्रतिरोधक शक्ति, सहनशक्ति और निरंतर बढ़ी हुई ऊर्जा का अनुभव करते हैं।

सुदर्शन क्रिया का नियमित अभ्यास आपकी निरोगता को बढ़ाकर आपको जीवन भर स्वस्थ और प्रसन्न रखता है|

सही श्वसन कर जीवन भर प्रसन्न रहें|Breathe Right, Stay Happy, Lifelong!
क्या आप जानते हैं कि सुदर्शन क्रिया आपकी मुस्कराहट व प्रसन्नता को अखंड रखती है? सुदर्शन क्रिया किस प्रकार प्रसन्नता के लिए कार्य करती है?

क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि आप नकारात्मक भावनाओं (क्रोध, चिड़चिड़ाहट, निराशा, और दुख ) से बाहर आने में कितना समय लेते हैं? सुदर्शन क्रिया के द्वारा, कुशलता से श्वास का प्रयोग करना सीखें और जैसा चाहें अनुभव करें, भावनाए आप पर अब शासन न करें बल्कि आप भावनाओं पर अधिकार पायें।

कल्पना करें कि क्रोध, झुंझलाहट, ईर्ष्या और भय केवल गहरी श्वास से प्रसन्नता, मुस्कराहट और सुखपूर्ण जीवन में बदल जाए। मित्रता ,सम्बन्ध ,व्यवसाय ,परिवार,वैवाहिक जीवन में प्रसन्नता वास्तव में इसकी एक झलक है। अभी श्वांस लें और सुदर्शन क्रिया करें, दर्पण आपको केवल मुस्कराता दिखाएगा!

सुदर्शन क्रिया अद्वितीय क्यों है? |Why is Sudarshan Kriya unique?
रात के बाद दिन आता है, मौसम आते जाते रहते हैं, एक पेड़ नये पत्तों के लिए अपने पुराने पत्ते गिराता है, यह प्रकृति की लय है।

प्रकृति का एक हिस्सा होने के नाते हम सब में भी एक लय निहित है, शरीर, मन, भावनाओं की जैविक लय।. जब तनाव या रोग इस जैविक लय के क्रम को तोड़ते हैं, तो हम परेशानी, असंतुष्टि, दुःख व अप्रसन्नता महसूस करते हैं.

सुदर्शन क्रिया शरीर व भावनाओं की लयों में सामंजस्य बनाती है और प्रकृति की लयों के साथ पुनः लयबद्ध कराती लयबद्ध होकर हम अच्छा अनुभव करते हैं और सभी संबंधों मे प्रेम व शांति का प्रवाह स्वतः होने लगता है ।

सुदर्शन क्रिया शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और सामाजिक कल्याण(सुख) सुगम कराती है और आर्ट ऑफ लिविंग के सभी कार्यक्रमों का अभिन्न अंग है.। इससे विश्व के करोड़ों लोगों ने जीवन को उत्सव बनाकर लाभ प्राप्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *