15 Quotes / Sadhguru Hindi / Part 9

  • अपनी सेहत को डॉक्टर के हवाले न करें। आपकी सेहत आपका खुद का धंधा है।

  • आस्था पहाड़ को भी हिला सकती है, लेकिन यह आपके दिमाग को जड़ कर देती है।

  • लैंगिक समानता तो कोई मुद्दा ही नहीं होना चाहिए। ऑफिस में या सड़क पर किसी इंसान को एक आदमी या औरत की तरह देखने की जरूरत ही क्या है?

  • भरतनाट्यम – भाव, राग और ताल का नृत्य है। जीवन का राग पहले से तय है। आपको ताल की तलाश करनी है।

  • आपके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीज यह है कि आप अभी जीवित हैं और आपके अंदर जीवन धड़क रहा है। बाकी चीजें इतनी महत्वपूर्ण नहीं हैं।

  • एक प्राणी को पैदा करना इंसान के हाथ में नहीं है – आप तो सिर्फ एक शरीर बनाने में सहायक होते हैं।

  • भारतीय शास्त्रीय संगीत, अस्त्तिव से गुजरने के लिए ध्वनि को एक मार्ग के रूप में अपनाने का एक खुबसूरत तरीका है।

  • आप जरा इस पर गौर करें कि आप काम के बीच छुट्टी क्यों लेना चाहते हैं। अगर आप कोई ऐसी चीज कर रहे हैं जिसकी आप वाकई परवाह करते हैं, तो क्या आप छुट्टी लेना चाहेंगे?

  • जहां एक ओर ज्योतिष शास्त्र आपको यह बताने की कोशिश करता है कि किस तरह ग्रह, नक्षत्र और तारे आपको बांधते हैं, वहीं दूसरी ओर आध्यात्मिक प्रक्रिया आपको इन सबसे परे जाने की राह बताती है।

  • मंत्रोच्चार का संबंध संस्कृति से नहीं है, बल्कि यह अस्तित्व् से जुड़ा हुआ है। इसका संबंध ध्वनियों से है, न कि शब्द के अर्थ से।

  • शिव का अर्थ है: वह जो नहीं है। शिव की मंत्रमुग्ध कर देने वाली मौजूदगी का अनुभव करने और शून्यै की शक्ति को जानने के लिए एक अनुकूल रात है महाशिवरात्रि।

  • अगर आप अपने शरीर, मन, और भावनाओं को खुला रखते हैं तो आपका जीवन काफी अच्छा हो जाएगा। अगर आप अपनी ऊर्जा प्रणाली को खोलते हैं तो यह जादुई हो जाएगा।

  • आप जो चाहते हैं, उसे पाने के लिए धरती माता को मनाना ही कृषि है। जबकि औद्योगीकरण उसको चीरना- फाड़ना है।

  • क्या संभव है और क्या नहीं, यह आपका मामला नहीं है। यह फैसला प्रकृति करेगी। आपका सरोकार सिर्फ काम करने से है, उस चीज के लिए काम करने से जो आपके लिए सचमुच मायने रखती है।

  • योग हमेशा शरीर का रूपांतरण करने की कोशिश करता है, क्योंकि अगर शरीर रूपांतरित होता है तो दिमाग खुद-ब-खुद परिपक्व हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *