15 Quotes / Sadhguru Hindi / Part 59

  • मेरी कामना है कि यह होली आपके जीवन में रंग और उल्लास लेकर आए।

  • अगर आपके बच्चे हैं, तो सबसे पहले आपको खुद चरित्रवान और ईमानदार बनना होगा। आपकी कथनी और करनी में समानता होनी चाहिए।

  • इंसान के लिंग को बहुत ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। हमें इंसान को बस इंसान की तरह देखने की जरूरत है।

  • चाहे वह शराब हो, नशीली दवाएं हों, या कोई भी खतरनाक चीज़ हो – अपनी सीमाओं को तोड़ने की गुमराह कोशिशों में हम अपने कई जीवन बरबाद कर चुके हैं।

  • सिर्फ सहनशीलता ही काफी नहीं है। हमें स्वीकृति का एक ऐसा माहौल बनाने की जरूरत है, जहां जीवन को इसकी सभी विविधताओं में गले लगाया जाता है।

  • आजकल ज़्यादातर लोग जिसे प्रेम कहते हैं, वह म्यू चूअल प्राफिट योजनाओं से बस थोड़ा ज्यादा है। प्रेम जो है, वह तो बिना किसी शर्त के भावनाओं की मधुरता है।

  • अगर आप लगातार नई परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं, तो इसका मतलब है कि आप विकास और महान संभावनाओं से भरा जीवन जी रहे हैं।

  • इक्वीनोक्स के दिन रात और दिन बराबर होते हैं। इस दिन पृथ्वी पर स्त्रीत्व और पुरुषत्व के प्रभाव संतुलन में आ जाते हैं। भौतिक विवशताओं से परे जाने के लिए ये सबसे अच्छा दिन है।

  • जब तक हम अपने वनों की रक्षा नहीं करते और बंजर जमीन को फिर से वनों में नहीं बदलते, हमारा खुद का जीवन संकट में होगा।

  • साधना करना, भोजन करने की तरह होता है। भोजन का असर सिर्फ उन्हीं लोगों पर होता है, जो उसे खाते हैं। साधना करने से सिर्फ उन्हीं लोगों को लाभ होता है, जो उसे करते हैं।

  • एक स्त्री को मर्दों की दुनिया में फिट होने की जरूरत नहीं है। वैसे भी आधी दुनिया तो उसकी होनी चाहिए।

  • इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने कितनी किताबें पढ़ी हैं और आपने कितना ज्ञान बटोरा है – सृष्टि की तुलना में यह सब बहुत सीमित है।

  • आपके अंदर अपराध-बोध, डर, गुस्सा, या घृणा के होने का मतलब है कि मूल रूप से आपके विचार और भावनाएं आपके खिलाफ काम कर रही हैं।

  • अपने हर काम से, अपने हर विचार और भावना से, हम अपने आसपास बेहतर परिस्थिति पैदा कर सकते हैं।

  • हर चीज से स्वतंत्र हो जाना, यहां तक कि अपने आप से भी स्वतंत्र हो जाना ही असली स्वतंत्रता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *